बीजेपी नेता के बयान से कमलनाथ सरकार में खलबली, रातों-रात हो सकता है ‘तख्तापलट’

कैलाश विजयवर्गीय ने बीजेपी कार्यकर्ताओं का उत्साह बढाते हुए कहा कि प्रदेश हमारे हाथ से निकल गया, कोई बात नहीं प्रदेश कभी भी वापस हमारे पास आ जाएगा।

New Delhi, Jan 10 : एमपी में कमलनाथ सरकार ने बीजेपी पर विधायकों को धन और पद का लालच देने का आरोप लगाया है, अब इन आरोपों के बीच बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने ऐसा बयान दिया है, जिससे एमपी की सियासत में भूकंप आ गया है, बीजेपी नेता ने दावा करते हुए कहा कि कमलनाथ सरकार बीजेपी की कृपा से चल रहे है, जिस दिन बीजेपी आलाकमान को छींक भर आ गयी, उसी दिन एमपी में बीजेपी दुबारा सत्ता में लौट जाएगी।

हमारी कृपा से चल रही सरकार
बुधवार शाम को बीजेपी के एक कार्यक्रम में पार्टी समर्थकों और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि ये सरकार (कमलनाथ सरकार) कैसी सरकार है, ये हमारी कृपा से चल रही है, जिस दिन ऊपर से बॉस का इशारा हो जाएगा ना… उसी दिन बीजेपी सत्ता में लौट आएगी, बीजेपी महासचिव ने कहा कि हालिया विधानसभा चुनावों के दौरान कांग्रेस ने भ्रम जाल की वजह से कुछ वोट पा लिये, लेकिन हमें इसके लिये निराश होने की जरुरत नहीं है।

कभी भी प्रदेश हाथ में आ जाएगी
कैलाश विजयवर्गीय ने बीजेपी कार्यकर्ताओं का उत्साह बढाते हुए कहा कि प्रदेश हमारे हाथ से निकल गया, कोई बात नहीं प्रदेश कभी भी वापस हमारे पास आ जाएगा, जिस दिन दिल्ली वालों को सिर्फ एक छींक आ जाएगी, उसी दिन प्रदेश में हमारी सरकार बन जाएगी।

सुबह उठकर गाली याद करेंगे
बीजेपी नेता ने आगे बोलते हुए कहा कि पिछले 15 साल से गाली देना भूल गया था, क्योंकि तब से प्रदेश में हमारी सरकार थी, सो जो भी काम होता था, अधिकारियों को सिर्फ ए क फोन करने पर हो जाते थे, अब सुबह साढे पांच बजे उठकर गाली याद करेंगे, जो अधिकारी काम नहीं करेगा, हम उसकी पूजा तो नहीं करेंगे।

बीजेपी नेता के बयान पर विवाद
कांग्रेस ने बीजेपी नेता के इस बयान पर उन्हें घेरने में देर नहीं की, कांग्रेस प्रवक्ता नीलाभ शुक्ला ने कहा कि कैलाश विजयवर्गीय के बयान से साफ है कि चुनावी हार से तिलमिलाई बीजेपी कमलनाथ सरकार गिराने के लिये विधायकों को खरीदने की कोशिश कर रही है, बीजेपी जनादेश का खुलेआम अपमान कर रही है, साथ ही कांग्रेस प्रवक्ता ने ये भी आरोप लगाया कि बीजेपी नेता अधिकारियों को धमकाकर गलत काम करने के लिये बेजा दबाव बना रहे हैं।