कुंभ स्‍नान के लिए पहुंची राखी सावंत, लेकिन मांग में किसके नाम का सिंदूर था, नाम जानकर चौंक जाएंगे

मीडिया से बातचीत में राखी सावंत ने बताया कि वो पिछले कुछ सालों से कुंभ में आने की इच्‍छा तो रखती थीं लेकिन करोड़ों लोगों के इस आयोजन में जुटने का नाम सुनकर ही उन्‍हें डर लगता था ।

New Delhi, Feb 06 : राखी सावंत कुछ करें और वो खबरों में ना आए ऐसा कैसे हो सकता है । राखी पहुंचीं प्रयागराज वो भी सुहागन अवतार में । राखी को मांग में सिंदूर लगाए देखकर हर कोई हैरान रह गया । जब इस बारे में राखी से पूछा गया तो वो जवाब गोलमोल ही कर गईं । पहली बार कुंभ में पहुंची राखी सावंत पायलट बाबा के बुलावे पर वहां पहुंची थीं । राखी सावंत के साथ उनके कुछ साथी और भी प्रयागराज पहुंचे । राखी सीनियर एक्‍टर सुदेश बेरी के साथ यहां नजर आईं ।

पायलट बाबा के न्‍यौते पर कुंभी पहुंची राखी सावंत
मीडिया से बातचीत में राखी सावंत ने बताया कि वो पिछले कुछ सालों से कुंभी में आने की इच्‍छा तो   रखती थीं लेकिन करोड़ों लोगों के इस आयोजन में जुटने का नाम सुनकर ही उन्‍हें डर लगता था । ऐसे में इस बार जब उन्‍हें पायलट बाबा की ओर से निमंत्रण मिला तो वो इससे खुद को रोक नहीं पाईं । वो कुंभ पहुंच गई । लेकिन सबसे हैरान करने वाला था राखी का रूप ।

सिंदूर लगाकर पहुंची राखी
राखी सावंत के बदले अंदाज ने सबको हैरान कर दिया । राखी ने लाल रंग का सिंदूर अपनी मांग में सजाया हुआ था । राखी अभी शादीशुदा नहीं हैं इसके बावजूद उनकी मांग में सिंदूर चौंकाने वाला था । हाथ में चूड़ा ओर माथे पर सजी बिंदी भी सबके मन में इस सवाल का जवाब ढूढ़ रही थी कि ये सुहाग की निशानियां किसके नाम की हैं । हालांकि नाम का खुलासा तो नहीं हुआ लेकिन राखी ने इस पर इतना जरूर कहा कि मैं विवाहित नहीं हूं फिर भी भगवान के दर पर सुहागिन का सोलह श्रृंगार कर आई हूं ।

‘मैं पाप धोने आई हूं’
राखी और सीनियर एक्‍टर सुदेश बेरी ने यहां मीडिया से बात की । राखी ने इस दौरान कहा कि कुंभ में संगम स्नान करके मैं अपना पाप धोने आई हूं। सिंदूर और बिंदी के सवाल पर राखी ने कहा कि वह अविवाहित हैं फिर भी कुंभनगरी में सोलह श्रृंगार कर और सिंदूर लगा कर आई हैं। राखी सावंत ने इस दौरान योगी सरकार की ओर से कुंभ मेले में की गई बेहतर व्यवस्था की भी तारीफ की। राखी ने सरकार के नारे भी लगा दिए । राखी ने कहा कि उन्‍हें यहां आकर बहुत अच्‍छा लगा । आपको बता दें उत्तराखंड से अपनी संन्यास यात्रा शुरू करने वाले पायलट बाबा के शिविर में इस बार सितारों का सबसे ज्यादा जमघट देखने को मिल रहा है जो आगे भी जारी रहने वाला लगता है ।