अब बिहारी बाबू ने एयर स्ट्राइक के मांगे सबूत, कहा रागदरबारी गुमराह कर रहे हैं

शत्रुघ्न सिन्हा ने कहा कि विपक्ष के साथ-साथ देश की जनता भी जानना चाहती है कि आखिर कितने आतंकी मारे गये।

New Delhi, Mar 08 : बीजेपी नेतृत्व से असंतुष्ट चल रहे पटनासाहिब सांसद शत्रुघ्न सिन्हा ने बालाकोट एयर स्ट्राइक में आतंकियों के मारे जाने के सबूत मांगे हैं, आपको बता दें कि विपक्ष के कई नेताओं ने वायुसेना द्वारा आतंकी कैंप को नष्ट किये जाने के लगातार सबूत मांग रहे हैं, अब इस फेहरिस्त में शॉटगन का भी नाम शामिल हो गया है, केन्द्र सरकार के दावों पर शॉटगन ने कहा कि सरकार को हवाई हमले के सबूत के साथ सामने आना चाहिये।

हर कोई कर रहा अलग दावा
पटना साहिब सांसद ने अपनी ही पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि केन्द्रीय मंत्री राधा मोहन सिंह और यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ कह रहे हैं, कि 400 आतंकी मारे गये, अलग-अलग न्यूज चैनलों पर सरकार को कोई रागदरबारी कह रहा है, कि तीन सौ मारे गये, तो कोई पांच सौ आतंकियों के मारे जाने का दावा कर रहा है।

देश की जनता जानना चाहती है
शत्रुघ्न सिन्हा ने आगे बोलते हुए कहा कि विपक्ष के साथ-साथ देश की जनता भी जानना चाहती है कि आखिर कितने आतंकी मारे गये, शॉटगन ने कहा कि सेना के पराक्रम की कहानी के साथ हमले को किस हद तक अंजाम दिया गया, अगर केन्द्र सरकार बता दे, तो मैं समझता हूं, कि जनता का हौसला और भी बुलंद होगा, सच्चाई सामने आएगी, तो सरकार की वाहवाही होगी।

दिग्विजय सिंह का आदर करता हूं
पुलवामा आतंकी हमले को दुर्घटना बताने वाले एमपी के पूर्व सीएम और कांग्रेस नेता दिग्विजय सिंह के बयान के बारे में जब शॉटगन से पूछा गया, तो उन्होने कहा कि मैं शब्दों के हेरफेर या जाल में नहीं पड़ना चाहता हूं, मैं इतना ही कह सकता हूं, कि मैं दिग्विजय सिंह का बहुत आदर करता हूं, वो बहुत परिपक्व आदमी हैं। देश के लिये उन्होने काफी योगदान दिया है, उनकी छवि काफी अच्छी है, ऐसा लग रहा है कि वो कहना कुछ और चाहते थे, लेकिन शब्द मुंह से कुछ और निकल गया।

टिकट पर संकट
पिछले चार साल से शत्रुध्न सिन्हा पार्टी नेतृत्व और सरकार के खिलाफ लगातार बयानबाजी कर रहे हैं, माना रहा है कि 2019 लोकसभा चुनाव में उनका टिकट कटना तय माना जा रहा है, हालांकि उन्होने खुलेआम ऐलान कर रखा है कि वो पटनासाहिब से ही चुनाव लड़ेंगे, कहा जा रहा है कि बीजेपी से टिकट कटने के बाद वो महागठबंधन के उम्मीदवार हो सकते हैं, इन दिनों लालू परिवार से उनकी नजदीकियां किसी से छुपी नहीं है।