चीन ने दिया पाकिस्‍तान से बातचीत का प्रस्‍ताव, गरजीं सुषमा स्‍वराज, धोखेबाज पाकिस्‍तान की उलटी गिनती शुरू

“पुलवामा के 10 दिन बाद तक हमने इंतजार किया, सभी अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने दबाव बनाया इसके बाद भी कुछ नहीं हुआ तब 26 तारीख को एयर स्ट्राइक हुई।”

New Delhi, Mar 14 : संयुक्‍त राष्‍ट्र परिषद में भारत को एक बार फिर निराशा हाथ लगी । मसूद अजहर को लेकर चीन ने फिर अड़ंगा डाला और उसे ग्‍लोबल आतंकी घोषित किए जाने का प्रस्‍ताव फिर होल्‍ड पर चला गया । भारत की तैयारी इस बार कड़ी थी, यूएन सदस्‍यों को डोजियर भी भेजे गए । लेकिन चीन ने वही किया जो वो हर बार करता है । पाकिस्‍तान को सपोर्ट कर चीन ने एक बार फिर धूर्तता का परिचय दिया । चीन ने भारत को पाकिस्‍तान से बातचीत की सलाह दी है । चीन की इस सलाह से भारत ने साफ किनारा कर लिया है । विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने पाकिस्‍तान को कड़ी चेतावनी दी है ।

सुषमा स्‍वराज का कड़ा बयान
वहीं भारतीय विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने इस पर कड़े शब्‍दों में कहा है कि पाकिस्तान के साथकोई बात तब तक नहीं हो सकती है जबतक वो आतंक पर लगाम नहीं लगाता ।  सुषमा ने ये भी कहा कि अगर इमरान खान सरकार वाकई आतंक खत्म करना चाहती है तो वो मसूद अजहर को भारत के हवाले करे । स्वराज ने कहा पाकिस्तान को आईएसआई और उसकी सेना को नियंत्रित करने की जरूरत है ।

ऐसे हालात में बातचीत कैसे संभव है ?
सुषमा ने बेहद कड़े शब्‍दों में कहा – ”आप कहते हैं कि आप आतंकवाद पर बातचीत करना चाहते हैं और आपके यहां का आतंकी हमारे 40 जवानों की हत्या करके चला जाता है । इसके कुछ देर बाद ही वो हमले की जिम्मेदारी लेता है । आपके विदेश मंत्री कहते हैं कि मसूद अजहर पाकिस्तान में है और बीमार है, घर से बाहर नहीं निकल सकता । इसके कुछ दिन बाद आर्मी प्रवक्ता कहते हैं कि मसूद अजहर पाकिस्तान में है ही नहीं । बाद में यह भी बयान आ गया कि जैश ने जिम्मेदारी ली ही नहीं । कितना झूठ बोलोगे और कब तक झूठ बोलोगे.”

‘आतंकियों पर कार्रवाई करे पाकिस्‍तान’ 
सुषमा स्‍वराज ने कहा, ”पाकिस्तान के साथ सामान्य रिश्ते हो सकते हैं लेकिन उससे पहले उन्हें अपने आतंकियों पर कार्रवाई करनी होगी और पाकिस्तान से भारत की धरती पर आतंक फैलाना बंद करना होगा । इसके बाद ही बातचीत की शुरुआत हो सकती है । पुलवामा के 10 दिन बाद तक हमने इंतजार किया, सभी अंतरराष्ट्रीय संस्थाओं ने दबाव बनाया इसके बाद भी कुछ नहीं हुआ तब 26 तारीख को एयर स्ट्राइक हुई।”

‘भारत को सौंपे मसूद अजहर’
विदेश मंत्री सुषमा स्‍वराज ने इमरान खान पर चोट करते हुए कहा कि ”पाकिस्तान को लेकर भारत के नजरिए को समझने की जरूरत है, हमारे यहां आवाज उठनी शुरू हो जाती है कि इमरान खान स्टेट्समैन हैं । इमरान खान उदारता दिखा रहे हैं । इमरान अगर इतने ही उदार हैं तो मसूद अजहर को भारत के हवाले करें, और अपनी उदारता दिखाएं।”

‘निराशा है लेकिन कोशिश जारी’
वहीं मसूद अजहर को यूएन में ग्‍लोबल आतंकी घोषित नहीं किया जा सकता इसे लेकर भारत सरकार की ओर से बयान आया है । सरकार की ओर से कहा गया ”एक देश की वजह से जो नतीजा सामने है वो निराश करने वाला है लेकिन मसूद अजहर के खिलाफ हमारी मुहिम जारी रहेगी । हम निराश हैं लेकिन हम सभी उपलब्ध विकल्पों पर काम करते रहेंगे, ताकि ये तय किया जा सके कि भारतीय नागरिकों पर हुए हमलों में शामिल आतंकवादियों को न्याय के कठघरे में खड़ा किया जाए । ” विदेश मंत्रालय की ओर से प्रस्ताव लाने वाले सदस्य राष्ट्रों के प्रयास के लिए आभार जताया गया ।