आप-कांग्रेस गठबंधन- दिल्ली ही नहीं बल्कि हरियाणा में भी बनीं बात, जेजेपी भी आएगी साथ, ये है सीटों का फॉर्मूला

कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन को लेकर पिछले कुछ महीनों से असमंजस की स्थिति बनी हुई है, पहले तो कांग्रेस में ही गठबंधन को लेकर दो राय थी।

New Delhi, Apr 17 : लोकसभा चुनाव के लिये कल दूसरे चरण का मतदान होना है, लेकिन उससे पहले बड़ी खबर सामने आई है, दरअसल आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर करीब-करीब बात बन गई है, सूत्रों का दावा है कि दिल्ली में आप चार और कांग्रेस तीन सीटों पर चुनाव लड़ेगी, इसके साथ ही हरियाणा में आप-कांग्रेस के साथ जेजेपी भी शामिल होगी, सूत्रों के मुताबिक संजय सिंह और गुलाम नबी आजाद के बीच बैठक हुई है। हरियाणा में आप ने जेजेपी के लिये तीन सीटों की मांग की थी, कांग्रेस ने दो सीट जेजेपी और एक सीट आप को देने की बात कही है।

हरियाणा में गठबंधन
हरियाणा में कांग्रेस-जेजेपी और आप के बीच गठबंधन की बात की जा रही है, पूर्व सीएम ओपी चौटाला के परिवार में फूट के बाद दुष्यंत चौटाला ने अलग जननायक जनता पार्टी का गठन कर लिया, हाल ही में जींद उपचुनाव में जेजेपी दूसरे नंबर पर रही थी, आप ने तब उनका समर्थन किया था, जिसके बाद से उनके हौंसले बुलंद है, हाल ही में जेजेपी और आप ने लोकसभा चुनाव के लिये भी गठबंधन का ऐलान किया था, लेकिन केजरीवाल कांग्रेस को भी इसमें शामिल करने के पक्ष में हैं, ताकि बीजेपी से सीधी लड़ाई हो।

हुड्डा से मुलाकात
आप-कांग्रेस के बीच गठबंधन को लेकर राज्यसभा सांसद सुशील गुप्ता ने कांग्रेस नेता भूपिंदर सिंह हुड्डा से मुलाकात की थी, हरियाणा की दस लोकसभा सीटों के लिये 12 मई को वोट डाले जाएंगे। उससे पहले आम आदमी पार्टी कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर पूरी कोशिश कर रही है, आपको बता दें कि 2014 में बीजेपी ने 7, इनेलो ने दो और कांग्रेस ने एक सीट पर जीत हासिल की थी, तब सभी पार्टियां अलग-अलग चुनाव लड़ी थी।

असमंजस की स्थिति
कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन को लेकर पिछले कुछ महीनों से असमंजस की स्थिति बनी हुई है, पहले तो कांग्रेस में ही गठबंधन को लेकर दो राय थी, दिल्ली कांग्रेस के नेता गठबंधन का विरोध कर रहे थे, तो पीसी चाको खेमा इसके समर्थन में थे, जब इस पर सहमति बनी, तो केजरीवाल ने दिल्ली के साथ-साथ हरियाणा और पंजाब में भी गठबंधन की शर्त रख दी, पंजाब में तो कैप्टन अमरिंदर सिंह ने साफ शब्दों में आप से गठबंधन को मना कर दिया है।

बीच का रास्ता
पहले तो राहुल और केजरीवाल ने ट्वीट कर एक -दूसरे पर गठबंधन का करने का ठीकड़ा फोड़ा, फिर दोनों दलों के शीर्, नेताओं ने बीच का रास्ता निकालने की कोशिश की है, दिल्ली के डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने ट्वीट कर लिखा है कि आप ने कांग्रेस से बात के लिये राज्यसभा सांसद संजय सिंह को अधिकृत किया है, राहुल जी भी कांग्रेस की ओर से किसी ऐसे व्यक्ति को अधिकृत करें, जो आप के साथ बैठकर सभी 18 सीटें (दिल्ली, हरियाणा और चंडीगढ) पर बीजेपी को हराने के लिये रणनीति बना सके।