किसी फिल्मी कहानी से कम नहीं है ईशांत शर्मा की लव स्टोरी, ऐसे हुई थी प्रतिमा से पहली मुलाकात

ईशांत शर्मा ने बताया कि मेरे माता-पिता आज भी बेहद साधारण जीवन जीते हैं, वो कोई भी चीज खरीदने से पहले उसकी कीमत पूछते हैं।

New Delhi, May 05 : टीम इंडिया के तेज गेंदबाज ईशांत शर्मा किसी परिचय के मोहताज नहीं हैं, वो टेस्ट क्रिकेट में टीम के अगुवा गेंदबाज हैं, मध्यम वर्गीय परिवार से ताल्लुक रखने वाले ईशांत ने संघर्ष और मेहनत से ये मुकाम हासिल किया है, हाल ही में तेज गेंदबाज ने बताया कि उनके पिता एसी का काम करते हैं, वो दो टन के एसी को एक जगह से उठाकर दूसरे जगह ले जाया करते थे, साथ ही उन्होने ये भी बताया कि उनके पिता का काम सिर्फ 6 महीने का ही होता था, तो वो इतने पैसे बचाकर रखते थे, कि पूरा साल आराम से रह सकें।

बहुत पूजा करते हैं मेरे मम्मी-पापा
ब्रेकफास्ट विद चैंपियन में गौरव कपूर से बात करते हुए ईशांत शर्मा ने बताया कि मेरे माता-पिता आज भी बेहद साधारण जीवन जीते हैं, वो कोई भी चीज खरीदने से पहले उसकी कीमत पूछते हैं, ईशांत ने अपने पापा के बारे में बताया कि वो सुबह चार बजे जग जाते हैं और फिर दो ढाई घंटे पूजा करते हैं, इसके बाद मम्मी भी पूजा करती हैं, मैं उनसे कहता हूं, कि सारा दिन भगवान से आप ही मांगते रहते हो, किसी और को भी कुछ मांगने दो।

नालायकों के बस्ते भारी
ईशांत ने इस इंटरव्यू में अपने स्कूल के दिनों का किस्सा भी सुनाया, उन्होने बताया कि 10वीं क्लास में मम्मी ने ट्यूशन के लिये मुझे भेजा, लेकिन मैं बंक मारके दोस्त के घर चला गया, पीछे से मम्मी ट्यूशन के पैसे देने चली गई, वहां पूछी, तो उन्होने कहा कि आया ही नहीं, मम्मी ने कहा कि घर से तो रोज निकल रहा है, जब मैं वापस घर पहुंचा, तो मम्मी ने पूछा आज क्या पढे, मैंने स्कूल में जो पढा था बता दिया, इतने में ही मम्मी ने एक जोर का झापड़ दिया, पापा टीवी देख रहे थे, मैंने उनसे कहा बचा लो, लेकिन उस दिन तो मम्मी ने मेरे साथ फुटबॉल खेली, सिर पकड़ कर दीवार पर मार दी, और कहा नालायकों के बस्ते भारी।

प्रतिमा से मुलाकात
आपको बता दें कि ईशांत शर्मा की पत्नी प्रतिमा सिंह भी टीम इंडिया के लिये बॉस्केटबॉल खेलती है, पत्नी से पहली मुलाकात के बारे में बताते हुए ईशांत ने कहा कि उनकी पहली मुलाकात एक बॉस्केटबॉल टूर्नामेंट के दौरान हुई, एक दोस्त के कहने पर वो और शिखर धवन चीफ गेस्ट बनकर पहुंचे थे, जहां एक सुंदर लड़की स्कोर बोर्ड चला रही थी, यही से उनकी पहचान हुई, बाद में दोनों ने शादी कर ली, ईशांत ने मजाकिया मूड में कहा कि पत्नी के सामने सारे पुरुष एयर इंडिया बन जाते हैं।