चुनाव नतीजों से पहले ही कैप्‍टन अमरिंदर ने डाले हथियार, कांग्रेस की हार पर कह दी बड़ी बात

कैप्‍टन अमरिंदर का पंजाब की लोकसभा सीटों को लेकर बड़ा बयान आया है । अमरिंदर ने कहा कि अगर कांग्रेस हारती है तो वो पूरी जिमेदारी अपने सिर लेंगे और पद छोड़ देंगे ।

New Delhi, May 17 : लोकसभा चुनाव 2019 में पंजाब की सभी 13 सीटों के पर आने वाली 19 मई को मतदान होना है । चुनाव का ये आखिरी चरण है और इसके 3 दिन बाद नतीजे सबके सामने होंगे । चुनाव नतीजों से पहले ही पंजाब के सीएम कैप्टन अमरिंदर का बड़ा बयान आया है । अमरिंदर सिंह ने न्‍यूज एजेंसी एएनआई से बात की और पंजाब में चुनावी घमासान के बारे में बात की । उन्‍होने कांग्रेस की हार होने पर बड़ा कदम उठाने की बात भी कही ।

इस्‍तीफा देंगे अमरिंदर सिंह !
कप्‍टन अमरिंदर सिंह ने न्‍यूज एजेंसी से बात करते हुए कहा कि अगर वो चुनाव में हार जाते हैं तो वो   पंजाब के सीएम पद से इस्‍तीफा दे देंगे । उन्‍होने कहा कि अगर कांग्रेस लोकसभा चुनावों में अच्छा प्रदर्शन नहीं करती तो इसकी पूरी जिम्‍मेदारी वो लेंगे और वो अपने पद से भी इस्‍तीफा दे देंगे । कैप्‍टन अमरिंदर ने कहा कि पंजाब में कांग्रेस सरकार में है ओर लोकसभा सीटों में भी अच्‍छे प्रदर्शन की ही उम्‍मीद है ।

‘मंत्री, विधायक सब जिम्‍मेदार होंगे’
कैप्‍अन अमरिंदर ने कहा चुनाव नतीजे जो भी आएंगे सभी उसके जिम्‍मेदार होंगे, सरकार में मंत्री राज्‍य के विधायक सभी । उन्‍होने कहा कि लोकसभा चुनाव के नतीजों में यदि पार्टी का राज्‍य में सफाया हुआ तो मैं इसकी पूरी जिम्‍मेदारी लूंगा और इस्‍तीफा तक दे दूंगा । अमरिंदर ने कहा कि ये पार्टी हाईकमान का फैसला है, राज्‍यों में पार्टी की हार का जिम्‍मा कांग्रेस के विधायकों का होगा, मैं भी इस जिम्‍मेदारी को वहन करता हूं । जो भी स्थिति होगी उसकी जिम्‍म्‍ेदारी लूंगा ।

कांग्रेस जीतेगी सभी लोकसभा सीटें
कैप्‍टन अमरिंदर ने कहा कि जो हाईकमान कहेगा वो उसका पालन करेंगे । जीत हो या हार, वो 100 फीसदी जिम्‍म्‍ेदारी लेने को तैयार हैं । उन्‍होने कहा कि राज्‍य में उनकी पार्टी अचछा प्रदर्शन करेगी । यहां 19 मई को मतदान होने हैं, कांग्रेस सीट बंटवारे को लेकर रस्‍साकस्‍सी का माहौल रहा था । यहां आपको बताते चले 2017 में पंजाब में कांग्रेस की वापसी हुई थी, इससे पहले एक दशक तक बीजेपी-अकाली दल की सरकार पंजाब में थी, जिन्‍हें हराकर अमरिंदर दोबारा राज्‍य के मुख्‍यमंत्री बने थे ।