अचानक कैसे चोटिल हो गये विजय शंकर, क्या साजिश के तहत टीम इंडिया से हुई उनकी विदाई

इंग्लैंड के खिलाफ मैच में टॉस के समय कप्तान विराट कोहली ने बताया था कि विजय शंकर को हल्की सी चोट है, इसलिये उनके स्थान पर प्लेइंग इलेवन में ऋषभ पंत को जगह दी गई है।

New Delhi, Jul 02 : आईसीसी विश्वकप 2019 में भारतीय टीम के खेमे से हरफनमौला विजय शंकर बाहर हो गये हैं, बीसीसीआई की ओर से जारी बयान में बताया गया है कि विजय शंकर की एड़ी में चोट लगी है, जिसकी वजह से वो आगे नहीं खेल पाएंगे, उन्हें विश्वकप से बाहर कर दिया गया है, आईसीसी ने उनकी जगह मयंक अग्रवाल को टीम इंडिया में शामिल करने की अनुमति दे दी है, मयंक मध्यक्रम में उनकी जगह बल्लेबाजी कर सकते हैं, इसके साथ ही वो ओपनिंग की भी जिम्मेदारी संभाल सकते हैं।

राहुल नंबर चार पर खेल सकते हैं
कहा जा रहा है कि मयंक अग्रवाल रोहित शर्मा के साथ ओपनिंग करते दिखेंगे और केएल राहुल नंबर चार पर बल्लेबाजी करते नजर आएंगे, इन सबके बीच एक सवाल दिमाग में ये आ रहा है कि अचानक विजय शंकर को इतनी गहरी चोट कैसे लग गई कि वो विश्वकप से ही बाहर हो गये, इंग्लैंड के खिलाफ मैच के दौरान वो मैदान में ड्रिंक्स लेकर आ रहे थे, तब तो चोटिल नहीं लग रहे थे, साथ ही उनकी चोट पर टीम प्रबंधन की खामोशी कुछ और ही इशारा कर रही है। सवाल उठाया जा रहा है कि क्या साजिश के तहत विजय शंकर को स्वदेश भेजा जा रहा है।

चोट के बाद तो दो मैच खेले थे
इंग्लैंड के खिलाफ मैच में टॉस के समय कप्तान विराट कोहली ने बताया था कि विजय शंकर को हल्की सी चोट है, इसलिये उनके स्थान पर प्लेइंग इलेवन में ऋषभ पंत को जगह दी गई है, विजय शंकर को प्रैक्टिस सेशन के दौरान जसप्रीत बुमराह की गेंद पर ए़ड़ी में चोट लगी थी। इस चोट के बाद उन्होने प्रैक्टिस सेशन छोड़ दिया था, ये घटना भारत और अफगानिस्तान के मैच से पहले हुई थी, हालांकि इसके बाद अफगानिस्तान के खिलाफ वो खेले थे, फिर वेस्टइंडीज के खिलाफ भी उन्हें मौका मिला, हालांकि विजय शंकर कुछ खास नहीं कर सके।

एक दिन पहले कहा बड़ी पारी से दूर नहीं
मीडिया रिपोर्ट के अनुसार विजय शंकर को दोबारा चोट लगी है, लेकिन टीम प्रबंधन या बीसीसीआई की ओर से किसी ने भी इस बारे में कुछ भी नहीं बताया कि विजय को कब चोट लगी, इंग्लैंड मुकाबले से पहले कप्तान विराट कोहली ने प्रेस कांफ्रेंस में कहा था कि शंकर अच्छा खेल रहे हैं, उन्होने पाक के खिलाफ अच्छा खेला था, वो बड़ी पारी से ज्यादा दूर नहीं है, तब लगा कि इंगलैंड के खिलाफ भी उन्हें मौका मिलेगा, लेकिन फिर उन्हें टीम से ही बाहर कर दिया गया।