दिवाली 2019- दर्श अमावस्या को पड़ रही है इस बार दिवाली, इस अद्भुत संयोग में जरुर करें ये काम

धर्म शास्त्रों के जानकारों के मुताबिक जब अमावस्या दर्श अमावस्या से युक्त हो, तो ये और लाभकारी साबित होता है।

New Delhi, Oct 09 : दिवाली इस साल 27 अक्टूबर रविवार के दिन पड़ रही है, हिंदू पांचांग के अनुसार कार्तिक मास की अमावस्या तिथि को हर साल दिवाली का त्योहार मनाया जाता है, इस दिन कई स्थानों में मां काली की पूजा भी की जाती है, इसके अलावा इन दिन माता लक्ष्मी के पूजा का विधान है, लोग अपने-अपने घरों को साफ-सुथरा कर मां लक्ष्मी के आगमन की कामना करते हैं, इसके साथ ही शुभ मूहूर्त में विधिवत लक्ष्मी और गणेश जी की पूजा करते हैं, चूंकि दिवाली हर साल अमावस्या तिथि को होती है, इसलिये इसका खास महत्व हो जाता है, इस बार दिवाली पर दर्श अमावस्या का खास संयोग बन रहा है।

क्या होता है दर्श अमावस्या
धर्म शास्त्रों के अनुसार दर्श अमावस्या के संयोग पर चांद पूरी रात दिखाई नहीं देता है, माना जाता है कि ये अमावस्या पूर्वजों की पूजा और पितृ दोष के निवारण के लिये काफी शुभ है, जो लोग सच्ची श्रद्धा के साथ अपने पूर्वजों को याद करते हैं, उनके ऊपर पूर्वजों की कृपा बनी रहती हैं, इसके साथ ही इस अमावस्या पर व्रत रखने का भी विधान है, चंद्र दोष से मुक्ति के लिये इन दिन व्रत रखना लाभकारी माना जाता है, आध्यात्मिक समृद्धि के लिये चंद्र देवता की पूजा खास मानी गयी है, इस दिन चंद्र की पूजा से मन में सदैव शांति और स्वाभाव में शालीनता बनी रहती है।

ज्योतिष में दर्श अमावस्या का महत्व
ज्योतिष शास्त्र के अनुसार चंद्र नवग्रहों में प्रमुख स्थान रखता है, जो मन का कारक ग्रह होता है, इसलिये दर्श अमावस्या पर व्रत रहने से मानसिक व्याधियां दूर होती है, इसलिये ज्योतिष सलाह देते हैं, कि दर्श अमावस्या पर चंद्र देव की पूजा करने से जीवन की अड़चनें दूर होती है, साथ ही भाग्यवृद्धि और सुख-समृद्धि मिलती है।

दर्श अमावस्या के लाभ
धार्मिक मान्यताओं के मुताबिक अमावस्या देवी लक्ष्मी तथा भगवान विष्णु को समर्पित है, धर्म शास्त्रों के जानकारों के मुताबिक जब अमावस्या दर्श अमावस्या से युक्त हो, तो ये और लाभकारी साबित होता है, दरअसल इस अमावस्या पर लक्ष्मी विष्णु की पूजा करने से जीवन की आर्थिक परेशानी दूर होती है, विवाह में आ रही अड़चनें भी दूर हो जाती है, इसके साथ ही बिमारियों से भी निजात पाया जा सकता है।