MBA डिग्रीधारी ये जोड़ा सड़क किनारे बेच रहा पोहा-पराठा, वजह जान हो जाएंगे भावुक

दीपाली भाटिया ने अपने फेसबुक पर अश्विनी शेनॉय शाह और उनके पति को सुपरहीरो कहा।

New Delhi, Oct 09 : अगर आपको राह चलते कोई पढा लिखा और अच्छी नौकरी करने वाला शख्स ठेला लगाते दिख जाए, तो आप भी सोच में जरुर पड़ जाएंगे, कि आखिर इस शख्स ने ऐसा फैसला क्यों लिया, जी हां, मुंबई के कांदिवली रेलवे स्टेशन के बाहर एक कपल ऐसा ही काम कर रहा है, एमबीए डिग्रीधारी ये शख्स अच्छी नौकरी करता है, इसके बावजूद ठेले पर खाने -पीने की सामान बेचता है, आइये विस्तार से बताते हैं कि आखिर पूरा मामला क्या है।

क्या है पूरा मामला
एक महिला गांधी जयंती के दिन सुबह-सुबह नाश्ते के लिये कांदिवली रेलवे स्टेशन से बाहर निकली, तो उन्हें एक शादी शुदा जोड़ा दिखा, जो ठेले पर पोहा, इडली, पराठा और उपमा जैसे खाना बेच रहा था, वो महिला उनके ठेले पर गई, और ये जानने की कोशिश की, कि आखिर वो कौन हैं और ऐसा क्यों कर रहे हैं।

सोशल मीडिया पर साझा
दीपाली भाटिया नाम की इस महिला ने पूरी घटना को अपने फेसबुक एकाउंट पर साझा किया है, उन्होने बताया कि एमबीए पास एक कपल तड़के सुबह 4 बजे से 9.30 बजे तक रेलवे स्टेशन के बाहर ठेला लगाते हैं, इसके बाद दोनों अपनी-अपनी नौकरी के लिये निकल जाते हैं, हालांकि उनके पास ऐसा करने की कोई मजबूरी नहीं है कि उन्हें ठेला लगाना पड़े, क्योंकि दोनों एमबीए डिग्रीधारी हैं और अपनी नौकरी से खुश हैं, लेकिन इसके पीछे की वजह सुन हर कोई हैरान रह जाएगा।

क्या है वजह
जब दीपाली ने इस कपल से इसके पीछे की वजह पूछी, तो उन्होने बताया कि वो फूड स्टॉल इसलिये लगाते हैं ताकि वो अपनी 55 वर्षीय रसोइये (खाना बनाने वाली) की मदद कर सके, महिला के पति पैरेलाइज्ड हैं, जिसकी वजह से वो घर-घर जाकर काम करती है, ऐसे में इस कपल ने महिला की मदद करने के लिये फूड स्टॉल लगाना शुरु किया, महिला इनके लिये खाना बनाती हैं और दो जोड़ा उसे बेचता है।

सुपरहीरो
दीपाली ने अपने फेसबुक पर अश्विनी शेनॉय शाह और उनके पति को सुपरहीरो कहा, और लिखा, अपने रसोइये की मदद करने के लिये काम करना ताकि उन्हें इस उम्र में ज्यादा भागदौड़ ना करना पड़े, ऐसा करने वाले ये हमारे समाज के सुपरहीरो हैं, दीपाली का ये पोस्ट सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो चुका है।