दोहरा शतक लगाने का बाद विराट कोहली ने कही बड़ी बात, ये दो दोहरे शतक सबसे करीब, वीडियो

अपने दोहरे शतक के बारे में बात करते हुए विराट ने कहा कि शीर्ष दो दोहरे शतक उनके मुताबिक एंटीगा और मुंबई वाले होंगे।

New Delhi, Oct 12 : कप्तान विराट कोहली ने कहा कि टीम की अगुवाई की जिम्मेदारी ही उन्हें चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में आगे बढने के लिये प्रेरित करता है, जिससे बड़े टेस्ट शतक जड़ने में मदद मिलती है, किसी भी भारतीय बल्लेबाज के टेस्ट में विराट कोहली से ज्यादा दोहरे शतक नहीं है, कप्तान ने अफ्रीका के खिलाफ दूसरे टेस्ट मैच में दूसरे दिन अपने करियर की सर्वश्रेष्ठ (254 रन नाबाद )पारी खेली, इसके साथ ही कई रिकॉर्ड उन्होने ध्वस्त कर दिये।

बड़ा स्कोर करने में परेशानी
विराट कोहली ने बीसीसीआई टीवी से कहा कि अपने करियर में इस तरह की छोटी-छोटी उपलब्धियां हासिल करना अच्छा है, सबसे ज्यादा दोहरे शतक बनाना। विराट ने कहा कि मुझे शुरु में बड़ा स्कोर बनाने में परेशानी होती थी, लेकिन जैसे ही मैं कप्तान बना, तो हर समय टीम के बारे में ही सोचता था, कप्तान रहते हुए आप सिर्फ अपने खेल के बारे में नहीं सोच सकते, इसी प्रक्रिया में आप अपनी सोच से ज्यादा बल्लेबाजी कर लेते हो, अब लंबे समय से मानसिकता यही रही है।

जडेजा के साथ तेज दौड़ना जरुरी
पुणे में खेली अपनी पारी के बारे में बताते हुए विराट ने कहा कि टीम के बारे में सोचने से उन्हें गर्मी और उमस भरे हालात में भी मैराथन पारी खेलने में मदद मिली, ये मुश्किल है, लेकिन जब आप टीम के बारे में सोचते हैं, तो खुद ही उस सीमा से आगे चले जाते है, जब आप टीम के लिये सोचते हो, तो तीन-चार घंटे और बल्लेबाजी कर लेते हो, यही सबसे चुनौतीपूर्ण चीज थी, जडेजा के बारे में उन्होने कहा कि उनके साथ बल्लेबाजी करते समय आपको तेज दौड़ लगानी पड़ती है।

शीर्ष दो दोहरे शतक
अपने दोहरे शतक के बारे में बात करते हुए विराट ने कहा कि शीर्ष दो दोहरे शतक उनके मुताबिक एंटीगा और मुंबई वाले होंगे, जिसमें से एक इंग्लैंड के खिलाफ था, वैसे सारे दोहरे शतक विशेष होते हैं, लेकिन ये दोनों ज्यादा विशेष हैं, क्योंकि एक विदेश जमीन पर था, तो दूसरा इंग्लैंड के खिलाफ चुनौतीपूर्ण परिस्थितियों में, जहां बहुत गर्मी और उमस थी।