अयोध्या: सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद शिवसेना का आया बयान, महाराष्ट्र में सरकार बनाने पर बड़ा ऐलान

अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के साथ ही देश को महाराष्‍ट्र के फैसले का भी इंतजार है । इस बीच शिवसेना की ओर से बड़ा बयान आया है ।

New Delhi, Nov 09: सुप्रीम कोर्ट ने आज विवादित राम जन्‍मभूमि पर फैसला सुनाते हुए 500 साल पुराने विवाद को खत्‍म कर दिया । मामले में कोर्ट ने कहा कि विवादित जमीन पर रामलला का ही हक है । कोर्ट के इस फैसले के बाद राम मंदिर निर्माण का रास्ता साफ हो गया है, मामले में केंद्र सरकार को 3 महीने के अंदर एक ट्रस्ट बनाने का आदेश दिया है । राम मंदिर की लड़ाई में बीजेपी के साथ कंधे से कंधा मिलाकर चलती रही शिवसेना का भी इस पर बयान आया है  ।

शिवसेना का बयान
सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले के बाद शिवसेना महाराष्ट्र में सरकार बनाने से पहले मंदिर निर्माण का   नारा दिया है । शिवसेना के वरिष्‍ठ नेता संजय राउत ने मंदिर पर फैसला आने के बाद ट्वीट किया । उन्‍होने लिखा है – ‘पहले मंदिर फिर सरकार!!! अयोध्या में मंदिर, महाराष्ट्र में सरकार…जय श्रीराम!!! संजय राउत के इस बयान के राजनीतिक पंडित अब कई मायने निकाल रहे हैं । महाराष्‍ट्र में चुनाव परिणाम के बाद से जिस तरह का राजनीतिक संकट पनपा है उसका अब कोई हल नहीं निकल पाया है ।

टूट की कगार पर गठबंधन
महाराष्ट्र में बीजेपी और शिवसेना का गठबंधन लगभग टूट की कगार पर खड़ा है । 24 अक्टूबर

को राज्‍य में विधानसभा चुनाव के नतीजे आने के बाद से अब तक कोई भी दल सरकार नहीं बना पाया है । ना शिवसेना झुकने को तैयार है और ना ही बीजेपी शिवसेना की बात मानने को । दोनों ही दल गठबंधन से पहले हुई शर्तों की बात तो कर रहे हैं लेकिन मुख्‍यमंत्री पर सहमति बनती नहीं दिख रही । ऐसे में शिवसेना की ओर से साफ तौर पर कह दिया गया है कि पहले राम मंदिर बनेगा, फिर महाराष्ट्र में सरकार बनेगी ।

राम मंदिर पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला
आपको बता दें सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद पर फैसला सुनाते हुए स्‍पष्‍ट रूप से ये कह दिया है कि विवादित जमीन पर मुस्लिम पक्ष अपना हक साबित नहीं कर पाया है । विवादित जमीन पर रामलला का ही हक है । वहीं केंद्र सरकार को 3 महीने के अंदर एक ट्रस्ट बनाने का आदेश भी दिया गया है, जो राम मंदिर निर्माण से लेकर बाकी सभी काम देखेगा । कोर्ट ने कहा है कि मुस्लिम पक्ष को अयोध्या में किसी दूसरी जगह मस्जिद निर्माण के लिए 5 एकड़ जमीन दी जाएगी ।