Photos: कांग्रेस प्रवक्‍ता पंखुड़ी पाठक सपा नेता की बनीं दूसरी पत्‍नी, दिल्‍ली में धूमधाम से रचाई शादी

कांग्रेस की मीडिया पैनलिस्ट पंखुड़ी पाठक ने रविवार को समाजवादी पार्टी के नेता अनिल यादव के साथ शादी कर ली । इस शादी की तस्‍वीरें अब वायरल हो रही हैं ।

New Delhi, Dec 02: दिल्ली के वसुंधरा वाटिका में कांग्रेस प्रवक्‍ता पंखुड़ी पाठक ने सपा नेता अनिल यादव के साथ 7 फेरे लिए । इस शादी समारोह में कई राजनीतिक दलों के नेता और ग्‍लैमर इंडस्‍ट्री के लोग भी शामिल हुए । पंखुड़ी और अनिल यादव को सोशल मीडिया पर तमाम नेता और फॉलोअर्स बधाईयां दे रहे हैं । जानकारी के मुताबिक, पंखुड़ी और अनिल की यह लव मैरिज हैं । अनिल पहले से शादीशुदा था, उन्‍होने पंखुड़ी से शादी करने से पहले पत्‍नी को तलाक दे दिया था । उनका और उनकी पूर्व पत्‍नी का एक बेटा भी है ।

पंखुड़ी पाठक की शादी
पूर्व में सपा नेता रहीं पंखुड़ी अग कांग्रेस का मीडिया पैनल संभालती हैं । उन्‍होने अपनी शादी की   तस्‍वीरें अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर कीं । मेहंदी और दूसरी रस्मों की तस्वीरों में पंखुड़ी बेहद सुंदर लग रहीं थीं । उन्‍हें पूर्व क्रिकेटर हरभजन सिंह ने भी शादी की शुभकामनाएं दीं । आपको बता दें अनिल समाजवादी पार्टी के पूर्व राष्ट्रीय प्रवक्ता रहे हैं और यूपी के पूर्व सीएम अखिलेश यादव के करीबी भी माने जाते हैं ।

पूर्व पत्‍नी ने लगाए आरोप
अनिल यादव की पूर्व पत्नी ज्योति का कहना है कि उनके पति से उनका तलाक हो चुका है, तलाक  लेने के बाद भी कई महीने तक उन्हें अपने पास बंधक बनाकर रखा था, सिर्फ इतना ही नहीं ज्योति यादव ने ये भी आरोप लगाया है कि जब अनिल और पंखुड़ी की शादी तय हो गई, तो अनिल ने उन्हें अपने घर से बेदखल कर दिया।

जुल्म की लंबी दांस्तां
ज्योति ने कहा कि उन पर जुल्म की लंबी दास्तां है, अनिल से उनकी शादी साल 2013 में हुई थी, शादी के बाद से ही अनिल उनके साथ बराबर मारपीट करता था, शादी के कुछ समय बाद ही अनिल की मुलाकात सपा प्रवक्ता पंखुड़ी पाठक से हुई, तब से ही उनका व्यवहार बदलने लगा, ज्योति पर अनिल अत्याचार करने लगा, छोटी-छोटी बातों के लिये पिटाई और गाली-गलौच करने लगा। ज्योति यादव का कहना है कि पंखुड़ी के कहने पर ही अनिल यादव उनके साथ दुर्व्यवहार करने लगे, 2018 में उनके छोटे बच्चे पर पिस्टल तानकर उन्हें डराया, धमकाया और मजबूरन तलाक के कागज पर दस्तखत करने के लिये मजबूर किया, दिल्ली के कोर्ट में दोनों के बीच तलाक भी हो गया था, इसके बाद भी अनिल यादव ने लगातार ज्योति को अपने घर पर बंधक बनाकर रखा।