सिर्फ इस क्रिकेटर की बात सुनते हैं हार्दिक पांड्या, बातों ही बातों में खोला बड़ा राज

आईपीएल 2022 के चैंपियन रहे हार्दिक पांड्या ने रीसेन्‍टली बताया कि कैसे एक क्रिकेटर की सलाह ने उनका पूरा करियर बदल लिया ।

New Delhi, Jun 18: ना विराट कोहली और ना ही रोहित शर्मा, आईपीएल 2022 के चैंपियन हार्दिक पांड्या टीम इंडिया के सिर्फ एक धुरंधर खिलाड़ी की सलाह मानते हैं । भारत-साउथ अफ्रीका मैच के बाद हार्दिक पंड्या ने बीसीसीआई टीवी के लिए दिनेश कार्तिक का एक खास इंटरव्यू किया । इस दौरान उन्होंने बताया कि कैसे उन्होंने अपनी कप्तानी में गुजरात को आईपीएल का खिताब दिलाया और किसकी सलाह मानने पर उन्होंने इतनी बड़ी सफलता हासिल की है।

Advertisement

हार्दिक पंड्या की शानदार पारी
इंडियन प्रीमियर लीग 2022 में गुजरात टाइटंस को खिताबी जीत दिलाने वाले ऑलराउंडर हार्दिक पांड्या अब साउथ अफ्रीका के खिलाफ भारतीय टीम में धमाल मचा रहे हैं। पांड्या साउथ अफ्रीका के खिलाफ चौथे टी20 मैच में 31 गेंद में 46 रनों की महत्वपूर्ण पारी खेलकर टीम इंडिया को जीत दिलाने में अहम भूमिका निभाई । इस जीत के साथ ही भारत अब पांच मैचों की सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली है। इसी मैच के बाद हार्दिक पंड्या ने बीसीसीआई टीवी के लिए दिनेश कार्तिक का एक खास इंटरव्यू किया।

Advertisement

इस क्रिकेटर की लेते हैं सलाह
कार्तिक के साथ बातों ही बातों में हार्दिक ने बताया कि कैसे उन्होंने अपनी कप्तानी में गुजरात को आईपीएल का खिताब दिलाया और किसकी सलाह मानने पर उन्हें इतनी बड़ी सफलता हासिल की है। पांड्या ने कहा, ‘मैं हमेशा पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी से सलाह लेता रहता हूं। वह जिस तरह से शांत रहकर अपनी रणनीति को निखारते हैं वह शानदार। करियर के शुरुआत में उन्होंने मुझे यह सलाह दिया था कि तुम यह मत सोचो की टीम का स्कोर क्या है। यह सोचो की टीम की जरूरत क्या है और मैं अब इसी चीज का पालन करता हूं।’

दिनेश कार्तिक ने जब पांड्या से पूछा कि गुजरात और टीम इंडिया के लिए खेलते हुए क्‍या वह अपनी प्लानिंग में कुछ बदलाव करते हैं। इसके जवाब में उन्होंने कहा, ‘मैं अपने खेल में कुछ खास बदलाव नहीं करता हूं। मैं बस अपनी टाइमिंग और अपने जोन में आने वाले गेंद को खेलने का प्रयास करता हूं। चाहे मैं गुजरात के लिए खेलूं या फिर टीम इंडिया के लिए।’ आपको बता दें कि पंड्या ने टीम इंडिया के लिए 2016 में अपना टी20 डेब्यू किया था । इसके बाद से वह अब तक कुल 58 टी20 मैच खेल चुके हैं। पाड्या चोट के कारण  लगातार टीम से अंदर बाहर होते रहे हैं, लेकिन उन्हें जब भी मौका मिलता है वह गेंद और बल्ले दोनों से अपना भरपूर योगदान देते हैं। यही कारण की आयरलैंड दौरे पर उन्हें टीम इंडिया की कप्तानी दी गई है।