शत्रुघ्न सिन्हा को ‘खामोश’ करेगी बीजेपी, पटना साहिब से इन पर दांव लगा सकती है पार्टी

पटना साहिब से मौजूदा बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटना लगभग तय माना जा रहा है।

New Delhi, Dec 23 : बिहार एनडीए में सीट बंटवारे को लेकर मचा घमासान खत्म होने को है, कहा जा रहा है कि सीट शेयरिंग का मसला सुलझा लिया गया है, जल्द ही इसका औपचारिक ऐलान किया जाएगा, दावा किया जा रहा है कि एनडीए के सभी घटक दलों के बीच सीट बंटवारे पर सहमति बन गई है, हालांकि सीटों के चयन पर बात जारी है, इसी सिलसिले में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह के आवास पर एक बैठक हो सकती है, जिसके बाद औपचारिक ऐलान कर दिया जाए।

क्या होगा फॉर्मूला
दावा किया जा रहा है कि बीजेपी को 17+1 फॉर्मूले के तहत 18 सीटें मिलेगी, यानी लोजपा राज्यसभा की एक सीट के बदले बिहार में बीजेपी को अपने हिस्से की एक सीट देगी, जदयू 17 सीटों पर चुनाव लड़ेगी, जबकि लोजपा को बिहार में 5 लोकसभा और यूपी में एक साथ ही एक राज्यसभा सीट मिलेगी, यानी कुल मिलाकर लोजपा के खाते में 7 सीटें।

जदयू को कौन-कौन सी सीट
जदयू को मिलने वाली 17 सीटों में नालंदा, पूर्णिया, मधेपुरा, वाल्मीकिनगर, काराकाट, झंझारपुर, जहानाबाद, किशनगंज या कटिहार में से एक, गोपालगंज या सासाराम में से एक, सीतामढी, दरभंगा, महाराजगंज, मुंगेर, सुपौल, औरंगाबाद या आरा में से एक और बांका सीट शामिल है।

लोजपा के हिस्से ये सीटें
लोजपा को हाजीपुर, समस्तीपुर, जमुई, वैशाली के अलावा नवादा या बेगूसराय में से कोई एक सीट दी जा सकती है, दावा ये भी किया जा रहा है कि जदयू ने बीजेपी से पटना साहिब और पाटलिपुत्र में कोई एक सीट देने की मांग की है। फिलहाल दोनों सीट बीजेपी के पास है, इस बार भी बीजेपी के ही पास रहने की संभावना जताई जा रही है, लेकिन प्रशांत किशोर ने दोनों में से कोई सीट लेने की मांग की है।

शत्रुध्न सिन्हा का टिकट कटना तय
पटना साहिब से मौजूदा बीजेपी सांसद शत्रुघ्न सिन्हा का टिकट कटना लगभग तय माना जा रहा है, उनकी जगह भोजपुरी फिल्मों के जाने-माने निर्देशक और प्रोड्यूसर अभय सिन्हा को उतारने की योजना है, अभय सिन्हा भी पटना के ही वाशिंदे हैं, साथ ही वो कायस्थ जाति से आते हैं, पटनासाहिब कायस्थ वोटर बाहुल्य क्षेत्र माना जाता है, इसलिये टिकट की रेस में उन्हें सबसे आगे माना जा रहा है, दूसरी ओर शॉटगन के बारे में कहा जा रहा है कि टिकट कटने पर वो इसी सीट से महागठबंधन के उम्मीदवार हो सकते हैं, उन्होने पहले ही खुला ऐलान कर रखा है, कि चाहे स्थिति कैसी भी हो, सीट नहीं बदलेगी ।