‘सत्ता चलाने का हुनर भर ही नहीं बल्कि नीतियों का समावेश थे अटल बिहारी वाजपेयी’

Punya Prasun Bajpai

‘सत्ता चलाने का हुनर भर ही नहीं बल्कि नीतियों का समावेश थे अटल बिहारी वाजपेयी’

वाजपेयी का राजधर्म- अटल बिहारी वाजपेयी के बहुमुखी व्यक्तितव की ये सिर्फ खासियत भर नहीं रही कि आज शिवसेना को भी वाजपेयी वाली बीजेपी चाहिये। New Delhi, Aug 17 : वाजपेयी की कविताएं,…
‘वाजपेयी जी राजनेता से पहले कवि और पत्रकार भी थे, और यक़ीनन सच्चे कवि और पत्रकार थे’

Q W Naqvi

‘वाजपेयी जी राजनेता से पहले कवि और पत्रकार भी थे, और यक़ीनन सच्चे कवि और पत्रकार थे’

आज के मौजूदा समय में वाजपेयी जैसे विराट व्यक्तित्व के नेता की कमी बहुत खलती है. वह चाहे सत्ता में रहे या विपक्ष में। New Delhi, Aug 16 : अटलबिहारी…
देश की जनता काफी समझदार है, कौन चोर है और कौन ईमानदार, वो भलीभांति जानती है

Manish Kumar

देश की जनता काफी समझदार है, कौन चोर है और कौन ईमानदार, वो भलीभांति जानती है

इस सवाल को उठाने का हक कांग्रेस 1991 में ही खो चुकी है जब उसने देश में उदारवादी नीतियों को लागू किया था। New Delhi, Aug 15 : पिछले पोस्ट…
सरकार की मजबूती की कीमत लोकतंत्र चुकाता है

Rakesh Kayasth

सरकार की मजबूती की कीमत लोकतंत्र चुकाता है

कांग्रेस और बीजेपी बार-बार देश के विकास के लिए स्थिर सरकार की दुहाई देती थीं। इन दुहाइयों का असर कुछ ऐसा कि देश की जनता भी भूल गई कि ताकतवर…
चीन में मुसलमानों की दुर्दशा

Dr. Ved Pratap Vaidik

चीन में मुसलमानों की दुर्दशा

सिंक्यांग प्रांत तिब्बत की तरह सदियों तक चीनी कब्जे के बाहर रहा है और 20 वीं सदी में वहां चीन-विरोधी बगावतें होती रही हैं। New Delhi, Aug 13 : संयुक्तराष्ट्र…
‘एंकरनिया चरित्तर दिखा रही है, एक गाड़ी में तोड़फोड़ की तो आतंकी हो गए?’

Yogesh Kislay

‘एंकरनिया चरित्तर दिखा रही है, एक गाड़ी में तोड़फोड़ की तो आतंकी हो गए?’

इन एंकरनियो की औकात तो राजनैतिक दलों के प्रवक्ता रोज बताते रहते हैं । जब इनकी एक नही सुनकर अपनी ही रौ में चिल्लाने और झगड़ने लगते हैं । New…
‘आज यह दलाई लामा जी ,चबा चबा कर ज्ञान बघारते हैं तो कष्ट होता है’

Shesh Narain Singh

‘आज यह दलाई लामा जी ,चबा चबा कर ज्ञान बघारते हैं तो कष्ट होता है’

दलाई लामा इस देश में एक शरणार्थी हैं .जिस देश ने उनको शरण दी है उसके आतंरिक मामलों के बारे में उनको गैर ज़िम्मेदार बयान नहीं देना चाहिए। New Delhi,…
‘मुथुवेल करुणानिधि ने सत्ता भोगने के लिए न सत्य देखा, न शुचिता’

Dayanand Pandey

‘मुथुवेल करुणानिधि ने सत्ता भोगने के लिए न सत्य देखा, न शुचिता’

बेटी कनिमोझी तक को नष्ट , भ्रष्ट और बेटे स्टालिन तक को अराजक और भ्रष्ट बना दिया मुथुवेल करुणानिधि ने । ख़ुद भी भ्रष्ट , अराजक और औरतबाज थे मुथुवेल…
आरक्षण हटाओः आरक्षण बढ़ाओ !

Dr. Ved Pratap Vaidik

आरक्षण हटाओः आरक्षण बढ़ाओ !

आरक्षण : योग्यता के अलावा यदि आप किसी भी अन्य आधार को मानेंगे तो वह अन्याय, अकर्मण्यता, भ्रष्टाचार और शिथिलता को बढ़ाएगा। New Delhi, Aug 07 : भाजपा के पूर्व…
‘मास्टरस्ट्रोक’ रोकने के पीछ सत्ता का “ब्लैक स्ट्रोक “

Punya Prasun Bajpai

‘मास्टरस्ट्रोक’ रोकने के पीछ सत्ता का “ब्लैक स्ट्रोक “

किसी भी एडिटर के सामने जो तस्वीर स्क्रिप्ट के अनुरुप लगाने की जरुरत होती उसमें बिना मोदी का कोई वीडियो या कोई तस्वीर उभरती ही नहीं । New Delhi, Aug…
हे नीतीश कुमार जी, आप शर्मिंदा न हों, सत्ता में बैठे लोग शर्मिंदा नहीं होते !

Abhiranjan Kumar

हे नीतीश कुमार जी, आप शर्मिंदा न हों, सत्ता में बैठे लोग शर्मिंदा नहीं होते !

अगर नीतीश कुमार जी को शर्मिंदा होना होता, तो वे पटना गैंग रेप के समय ही शर्मिंदा हो गए होते, जब हम लोगों को अपनी पीड़ित बहन को इंसाफ़ दिलाने…