आखिर शिखर धवन ने ऐसा क्यों कहा, रोहित शर्मा मेरी पत्नी नहीं, जो हमेशा टच में रहूं

शिखर धवन ने अपने ही अंदाज में कहा कि रोहित मेरी बीवी थोड़ी है, जो हमेशा उनसे बात करता रहूंगा, अगर आप किसी के साथ सालों तक खेलते हैं, तो आप उन्हें अच्छे से जान जाते हैं।

New Delhi, May 15 : शिखर धवन आगामी विश्वकप में टीम इंडिया के लिये महत्वपूर्ण खिलाड़ी हो सकते हैं, उन्होने देश के लिये खेले अब तक सभी बड़े टूर्नामेंटों में दमदार प्रदर्शन किया है, टीम को सफलता दिलाने के लिये विश्वकप में सलामी जोड़ी का चलना बेहद जरुरी है, हालांकि आईपीएल की वजह से पिछले कुछ समय से शिखर और रोहित दूसरे बल्लेबाज के साथ खेल रहे थे। गब्बर से जब ये पूछा गया कि क्या आगामी टूर्नामेंट से पहले वो रोहित शर्मा से लगातार बात कर रहे हैं, तो शिखर ने कहा कि रोहित मेरी पत्नी नहीं है, जो हमेशा उनसे बात करता रहूं।

धवन ने क्या कहा
गब्बर ने अपने ही अंदाज में कहा कि रोहित मेरी बीवी थोड़ी है, जो हमेशा उनसे बात करता रहूंगा, अगर आप किसी के साथ सालों तक खेलते हैं, तो आप उन्हें अच्छे से जान जाते हैं, रोहित शर्मा के साथ हम कुछ विशेष नहीं करते, पृथ्वी शॉ के साथ भी बल्लेबाजी करते हुए यही चीज होती है, अगर एक बल्लेबाज तेजी से रन बना रहा है, तो दूसरे को उसका साथ निभाना चाहिये।

किस बात का दबाव
बड़े टूर्नामेंट में खेलने पर दबाव होने की बात पर शिखर धवन ने कहा किस बात का दबाव, ये मेरा रोज का काम है, मैं सुनिश्चित करता हूं, कि आम बातों का ध्यान रखूं, मेरा दिमाग हमेशा साफ रहता है, कभी-कभी आप रन बनाते हैं, लेकिन कभी-कभी ऐसा नहीं हो पाता, लेकिन मैं हमेशा शांत रहता हूं, उन चीजों पर ध्यान देता हूं, जिस पर मुझे काम करना है, फिर अच्छा करने की कोशिश करता हूं, मैं ज्यादा चिंता करने में विश्वास नहीं करता।

अच्छा रहा आईपीएल
आईपीएल का बीता सीजन शिखर धवन के लिये धमाकेदार रहा, उन्होने दिल्ली कैपिटल्स के लिये 16 मैचों में कुल 521 रन बनाये, जिसमें 5 अर्धशतक भी शामिल है, गब्बर ने कहा कि आईपीएल में उनका शानदार फॉर्म आगामी टूर्नामेंट में उन्हें अच्छी स्थिति में रखेगा, इसके साथ ही उनका ये भी मानना है कि टी-20 से सीधे एकदिवसीय में आकर खेलना कोई बड़ी चुनौती नहीं है।

टीम है संतुलित
शिखर धवन ने भारतीय टीम के बारे में कहा कि हमारे पास बुमराह, भुवनेश्वर और मोहम्मद शमी के रुप में बेहद मजबूत गेंदबाजी आक्रमण है, इसके साथ ही हार्दिक पंड्या भी हैं, जो अच्छे गेंदबाज हैं, हमारी टीम पूरी तरह से संतुलित है, विराट और धोनी और उनके जैसे अनुभवी खिलाड़ी टीम को मुश्किल हालात से निकालने के लिये काम कर सकते हैं।