विजय शंकर- विश्वकप टीम में चयन पर हुआ था विवाद, अब बदलकर रख दिया सालों पुराना इतिहास

विजय शंकर ने कहा कि 6 महीने पहले कोई उनसे कहता था कि विश्वकप में टीम इंडिया की योजना में उनकी गेंदबाजी अहम होगी, तो उन्हें हैरानी होती थी।

New Delhi, Jun 18 : टीम इंडिया के युवा ऑलराउंडर विजय शंकर को अंबाती रायडू पर तरजीह देते हुए विश्वकप 2019 में चुना गया था, जिस पर विवाद भी हुआ था, कुछ पूर्व खिलाड़ियों ने इसे गलत बताया था, इसके बाद अंबाती रायडू ने एक ट्वीट किया था, दोनों खिलाड़ियों के बीच टीम में शामिल होने को लेकर थोड़ा विवाद भी हुआ था, लेकिन अब विजय शंकर ने साबित कर दिया, कि टीम में उन्हें जगह देकर गलती नहीं की गई है।

पाक के खिलाफ मौका
विश्वकप के शुरुआती दो मैचों में विजय शंकर को प्लेइंग इलेवन में मौका नहीं दिया गया, लेकिन शिखर धवन के चोटिल होने के बाद विजय को पाक के खिलाफ मुकाबले में मैदान में उतारा गया, विश्वकप के पहले मैच में ही विजय शंकर ने पाकिस्तान के खिलाफ दो विकेट हासिल कर लोगों का ध्यान खींचा, तमिलनाडु के इस युवा क्रिकेटर ने सबको बता दिया, कि वो टीम इंडिया के अभियान में महत्वपूर्ण रोल निभा सकता है।

दो महत्वपूर्ण विकेट
विजय शंकर ने कहा कि 6 महीने पहले कोई उनसे कहता था कि विश्वकप में टीम इंडिया की योजना में उनकी गेंदबाजी अहम होगी, तो उन्हें हैरानी होती थी, मध्यम तेज गति से गेंदबाजी करने वाले विजय ने पाक के खिलाफ सलामी बल्लेबाज इमाम उल हक और कप्तान सरफराज अहमद का विकेट हासिल किया, विजय शंकर ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि मुझे पता था कि मैं अच्छी बल्लेबाजी कर रहा हूं, लेकिन मुझे मेरी गेंदबाजी उपयोगी बनाती है।

मेरा ध्यान तैयारी पर
पैर की मांसपेशियों में खिंचाव की वजह से भुवनेश्वर कुमार पाक के खिलाफ मुकाबले से बाहर हो गये, जिसके बाद विराट कोहली ने उनकी जगह गेंद शंकर को सौपी, जिन्होने 5.4 ओवर में 22 रन देकर 2 विकेट लिये। शंकर ने कहा कि मुझे सभी विभागों में सुधार करने की जरुरत है, मैं चीजों को उसी अनुसार देखता हूं, कि जब जैसी स्थिति हो, उसके मुताबिक खेलूं, मेरा ध्यान हमेशा तैयारी पर रहता है।

कहीं भी खेलने को तैयार
विजय शंकर का चयन चौथे नंबर पर बल्लेबाजी के लिये हुआ था, लेकिन टॉप ऑर्डर के बल्लेबाजों के अच्छा प्रदर्शन करने पर टीम मैनेजमेंट हार्दिक पंड्या को ऊपर भेज रहे हैं, ऐसे में शंकर 6ठें या सातवें स्थान पर बल्लेबाजी के लिये तैयार हैं, उन्होने कहा कि ऑस्ट्रेलिया सीरीज की कुछ शुरुआती पारियों में मैंने 6ठें या सातवें नंबर पर बल्लेबाजी की है, आप देश के लिये खेल रहे हैं, कि विभिन्न हालात से सामंजस्य बिठाने के लिये तैयार रहें। विजय ने कहा कि पहली ही गेंद पर विकेट हासिल करना सुखद आश्चर्य था, ये मेरे लिये हैरानी भरा था, क्योंकि बीच मैच में कोई चोटिल हो जाए और मैं विकल्प के तौर पर आऊं और पहली ही गेंद पर विकेट हासिल कर लूं, ये मेरे लिये विशेष चीज है।